अमीर बनने का मनोविज्ञान-अमीर कैसे बने…..!!!!

पैसे से प्यार करें-

जिस चीज को हम दिल से चाहते है, वह चीज हमें मिल जाती है। पूरी कायनात हमें उस उद्देश्य को पूरा करने में हमारी सहायता करती हैं। बचपन से हम सुनते आए है कि पैसे के पीछे नहीं भागना चाहिये। पैसा हमेशा गलत काम से ही आता है, या अमीर लोग पापी और शोषण करने वाले होते हैं। पैसे से इतना नफरत कर हम पैसे को नहीं प्राप्त कर सकते है। जिस चीज से हम प्यार/इज्जत नहीं करते वो चीज हमसे दूर चली जाती है। इसलिए पैसे से प्यार करें-यह गुनाह नहीं है।

बचत करना सीखें-छोटी छोटी बचत पीपल के बीज की तरह होती है।

बचत करें-वक्त पर यहीं काम आएगा-

बचत को आदत बनाये।Income (आय) वो नहीं है-जो हम कमाते है, इनकम वो है जिसे हम बचाते है। पैसे बचाने के लिए घर के बर्तन और किचन रात को सोने से पहले साफ कर ले-इस से खाना बनाने वक्क्त आलस और ऑनलाइन भोजन आर्डर करने की जरूरत नहीं पड़ेगी। इससे हेल्थ अच्छा रहेगा और डॉक्टर की फी भी बचेगी।

जान है तो जहांन है-

कोविड-19 हमें बहुत कुछ सीखा गया।स्वाथ्य और जान सबसे कीमती है-इसके महत्व को समझें और इसके देख-रेख के लिए अच्छा खाये और योग/व्ययाम, walking करें। कोविड-19 ने हमें बचत का महत्व भी दिखाया।

सिर्फ बचत पैसे को नष्ट करता है-

बचत को हम समान्यतः सेविंग एकाउंट में रखते है। वहा मिलने वाला ब्याज दर बढ़ती हुई महँगाई की दर से कम होता है।उस पैसे और उस से मिलने ब्याज को जोड़कर कर हम 5 साल बाद उस से उतनी जमीन, सोना या कोई भी वस्तु नहीं खरीद सकते जितना कि आज उस पैसे से खरीद सकते है। इसका मतलब ये हुआ कि 5 साल बाद हमारे बचाये पैसे की कीमत उतनी नहीं रही जितनी कि आज है। फिर ऐसी बचत का क्या फायदा!!!! इस से अच्छा तो आज को जी लेते है-कल किसने देखा!!! पर कल भी आएगा।

बचत को इन्वेस्ट कीजिये-

भाई अब ये इन्वेस्टमेन्ट(निवेश) क्या बला है……?- बचत के पैसे को उस जगह लगाना जहाँ से हमें उस पैसे पर मिलने वाला ब्याज(लाभ का अंश) बढ़ती महंगाई दर से ज्यादा हो उसे हम इन्वेस्टमेंट (निवेश) कहेंगे।तो एक बात पक्की है कि investment(निवेश) के बिना बचत बेकार हैं। इसलिए अमीर बनना है तो पैसे को व्यपार, शेयर मार्केट, म्यूच्यूअल फण्ड, IPO, सोना और जमीन खरीदने में इन्वेस्ट (निवेश) करें ना कि बैंक को पैसे देकर उससे अमीर करें। अमीर बनना है तो इन्वेस्टमेंट (निवेश) तो करना ही पड़ेगा। वास्तव में अमीर वहीं है जो व्यपार से जुड़े है-यह सत्य है-इसे स्वीकार करें और बचत को इन्वेस्ट(निवेश)करें।पैसा नहीं है तो क्या निवेश करू???

समय का इन्वेस्टमेंट(निवेश)-

भगवान ने एक चीज सबको एक बराबर दिया है-वह है वक्क्त। यदि आपके पास कुछ भी नहीं तो भी आप अपने वक्क्त को फालतू में बर्बाद करने की जगह उसे स्किल (कौशल) सीखने में लगाये। स्किल ऐसा हो जिसका मार्किट में डिमांड हो और उसमें आपका रुझान और प्यार भी हो। फिर जब पैसा आये तो छोटी-छोटी बचत करके उसे व्यपार में इन्वेस्ट करते जाईये।नई- नई चीजें सीखिए और एक्सपेरिमेंट करते जाईये।

डर और लोग क्या कहेंगे-

डर के आगे जीत है। नहीं डर के आगे सिर्फ डर है। इस डर को निकाल फेंकिये। लोग कहते है व्यपार में जोखिम है। नौकरी सेफ है। अरे भाई नौकरी कहा करते है हम ? किसी व्यपारी के पास ही तो नौकरी करते है। जब व्यपार सेफ नहीं है तो उस पर निर्भर नौकरी कैसे सेफ हो सकती है….!!! यदि आपको को अमीर बनना है तो डायरेक्टली (सीधे) या इंडिरेक्टली व्यपार से जुड़ना ही पड़ेगा। या तो सीधे फ्रैंचाइज़ी में इन्वेस्ट कीजिये, खुद का व्यपार या फिर IPO, शेयर मार्केट और म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश कीजिये, तभी आप अमीर बन सकते हैं।

पैसिव आय का कुंआ खोदिये-

पैसा सिर्फ मेहनत से नहीं आता है- इसके लिए प्लानिग और इससे अर्जित करने के लिए कुछ ऐसे कुंए खोदने होते हैं जो तब भी काम करें जब हम सोये हो। जैसे कि youtuber, ब्लॉगर, फ्रैंचाइज़ी bussiness, हाउस ओनर-रेंट, बुक लिखने से आय आदि। पैसिव इनकम का स्रोत हम अपनी बचत को निवेश करके या टाइम को निवेश कर के कर सकते है। अमीर बनने के लिए हमें एक से अधिक पैसिव इनकम के स्रोत (कुएं) ढूढने का सफल और असफल प्रयास करते रहना चाहिए क्योंकि असफल चाहें 100 बार हो क्या फर्क पड़ता है।अमीर बनने के लिए एक सफलता भी काफी होती है।

envision
Author: envision

M K Mishra, 8 वी बोर्ड एग्जाम में मेरिट लिस्ट में आने के बाद 10 वी के एग्जाम में जिला में प्रथम स्थान प्राप्त किए। उसके बाद B-Tech, ECE में करने के बाद अलग-अलग संष्ठान में R&D ke कार्य में सरकारी संस्थान में लगें हुए हैं। कई सरकारी जॉब में इनका सिलेक्शन हुआ। पढ़ने और लिखने में रूचि होने के कारण इस ब्लॉग को स्टार्ट किया , जिस की हम अपने अनुभव दूसरे लोगों से शेयर कर सके और लोग हमारे अनुभव से लाभ ले सके। यदि आप भी अपने अनुभव से लोगो को गाईड करना चाहते हैं तो अपने लेख और सफलता की कहानी हमे भेजे । आप कभी भी हमसे बिना झिझक कांटेक्ट कीजिए- Envision.make@gmail.com दिप से दिप हम लोग मिलकर जलाएंगे ज्ञान-विज्ञान को अपना दोस्त बनाकर ज़िन्दगी का हर जंग हम लोग मुस्कुरा कर जीत जाएंगे। आपके मेल, सुझाव, विचार और लेख के इंतजार मे..............

M K Mishra, 8 वी बोर्ड एग्जाम में मेरिट लिस्ट में आने के बाद 10 वी के एग्जाम में जिला में प्रथम स्थान प्राप्त किए। उसके बाद B-Tech, ECE में करने के बाद अलग-अलग संष्ठान में R&D ke कार्य में सरकारी संस्थान में लगें हुए हैं। कई सरकारी जॉब में इनका सिलेक्शन हुआ। पढ़ने और लिखने में रूचि होने के कारण इस ब्लॉग को स्टार्ट किया , जिस की हम अपने अनुभव दूसरे लोगों से शेयर कर सके और लोग हमारे अनुभव से लाभ ले सके। यदि आप भी अपने अनुभव से लोगो को गाईड करना चाहते हैं तो अपने लेख और सफलता की कहानी हमे भेजे । आप कभी भी हमसे बिना झिझक कांटेक्ट कीजिए- Envision.make@gmail.com दिप से दिप हम लोग मिलकर जलाएंगे ज्ञान-विज्ञान को अपना दोस्त बनाकर ज़िन्दगी का हर जंग हम लोग मुस्कुरा कर जीत जाएंगे। आपके मेल, सुझाव, विचार और लेख के इंतजार मे..............

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Post comment